तेजी से घटाना है वजन तो करें जुंबा डांस | Zumba Dance Fitness

zomba dance

जुम्बा…

जुंबा डांस  “Zomba dance fitness” का शोर आजकल मेट्रो सिटीज में ही नहीं छोटे शहरों में भी खूब मचा हुआ है । युवाओं और बच्चों में एक खास धुन संग एक्सरसाइज करने की यह नयी और रोचक तकनीक बेहद लोकप्रिय होती जा रही है । 1990 के करीब इस एक्सरसाइज तकनीक को एक कोलंबियन डांसर और कोरियोग्राफर ने न्यू डांस फिटनेस प्रोग्राम के तौर पर शुरू किया , जिसका नाम उन्होंने जुंबा दिया । यह एक्सरसाइज का ऐसा पैटर्न है , जिसे करने के दौरान कभी भी बोरियत महसूस नहीं होती । बंगलुरु इको एकेडमी में जुंबा की लाइसेंस प्राप्त इंस्ट्रक्टर नम्रता सिन्हा का कहना है कि वे फिटनेस फ्रीक जो एक्सरसाइज के पुराने तरीकों से पूरी तरह उब चुके हैं , उनके लिए जुंबा फिटनेस का एक नया , असरदार और मनोरंजक तरीका है । जुंबा को जानें जुंबा के नाम से जाना जानेवाली यह सबसे ट्रेंडी एक्सरसाइज लैटिन अमेरिका में शुरू हुई । यह एक तरह का कार्डियो डांस वर्कआउट है । इस डांस वर्कआउट की खासियत इसका म्यूजिक है । जुंबा के दौरान चलने वाले इस स्पेशल म्यूजिक को इस तरह से कोरियोग्राफ किया जाता है कि एक्सरसाइज के दौरान पार्टी जैसा माहौल बन जाए । वैसे लाइसेंस प्राप्त जुंबा प्रशिक्षकों की संख्या बहुत ही कम है ।इसलिए बेहतर होगा कि क्वालिफाइड प्रशिक्षक की जुबा क्लासेज हो जॉइन करें ।

जुंबा के फायदे:

इस डांसिंग एक्सरसाइज के डेरों फायदे हैं । कुछ खास बेनिफिट्स का यहां जिक्र किया जा रहा है…

•आमतौर पर मुंबा क्लास 1 घंटे की होती है । सप्ताह में 3 दिन ( प्रतिदिन एक घंटे ) 3 घंटे इस एक्सरसाइज को करके काफी कैलोरी बर्न की जा सकती है ।

•जुबा एक तरह का फुल बॉडी वर्कआउट है । इसमें पूरा शरीर सक्रिय रहता है । इस कारण इसका फायदा शरीर के सभी अंगों को पहुंचता है ।

•बेली फैट ( पेट और इसके आसपास जमी चरबी ) को कम करने में काफी कारगर माना जाता है ।

•इसमें कमर हिलाने के साथ – साथ फुटवर्क पर बहुत अधिक जोर दिया जाता है , इस कारण शरीर के निचले हिस्से की मांसपेशियों को काफी मजबूती मिलती है ।

•जुबा में प्रयोग किए जानेवाले म्यूजिक के तेज और स्लो बीट्स के हिसाब से ही एक्सरसाइज का तरीका और उसकी रफ्तार में अंतर आता – जाता रहता है ।

•यह कार्डियोवैस्कुलर रेस्पाइरेटरी सिस्टम ( हृदय और श्वसन तंत्र संबंधी ) के लिए अच्छा है ।

•शरीर के मेटाबॉलिज्म को सही रखता है । इसके साथ ही शरीर की सहनशक्ति को भी बढ़ाता है

जुंबा के प्रकार: 

हर उम्र के लोगों और उनकी जरूरतों को ध्यान में रख कर कई तरह का जुंबा तैयार किया गया है

ला जुंबिनी : इस क्लास को पेरेंट्स और बेबी ( 0 – 3 साल ) को साथ में किए जानेवाले मूव्स शामिल हैं । यह बच्चे और अभिभावक को एक – दूसरे के और करीब लानेवाली अनोखी क्लास होती है ।

जुबा किड्स जूनियर और जंवा किड्स : जंबा किड्स जूनियर 4 से 6 साल और जुंबा किड्स 7 से 11 साल के बच्चों के लिए तैयार किया गया फिटनेस प्रोग्राम है । इन दोनों तरह के जुंबा में इस बात का खास ख्याल रखा गया है कि बच्चे पूरी तरह से 1 एक्टिव रहें । साथ ही उनको एक तरह की हाइपर डांस पार्टी में शामिल होने की फीलिंग भी हो ।

एक्वा जुंबा : स्वीमिंग पूल में किया जानेवाला एक का कंप्लीट बॉडी वर्कआउट है ।

जुंबा टोनिंग : एब्स , थाइज , आर्स की मांसपेशियों न को ध्यान में रख कर इस एक्सरसाइज प्रोग्राम को 5 तैयार किया गया है । इसमें कार्डियो वर्कआउट पर जोर दिया जाता है ।

जुबा सेन्टाओ : इस प्रकार के जुंबा में चेअर का इस्तेमाल करके वर्कआउट कराया जाता है । यह कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ को सही रखता है और कैलोरी भी बर्न करता है । जुंबा इन द सर्किट : इसमें तेज गति से किए जानेवाले मूव्स होते हैं ।

जुंबा स्टेप्स : यह विशेष मूव्स और स्टेप्स से बना होता है , जो मांसपेशियों खासकर पैरों की मांसपेशियों को मजबूती देता है ।

जुंबा गोल्ड : इसे वरिष्ठ लोगों को ध्यान में रख कर डिजाइन किया गया है । इसमें हल्की गति के आसान डांस मूव्स को शामिल किया गया है । यह कोऑर्डिनेशन , बैलेंस और पूरे बॉडी के फिटनेस को कारगर बनाता है ।

zomba dance in hindi

जुंबा में क्या करें-

• जुंबा करने के दौरान ऐसी ड्रेस पहनें , जिसमें आपकी बॉडी म्यूजिक के हिसाब से आसानी से मुड़ सके या झुक सके ।

• इसे करते समय सही ग्रिप के जूते पहनें । लाइट वेट स्नीकर्स इस एक्सरसाइज के लिए काफी परफेक्ट साबित होंगे । यह आपको मूवमेंट को आसान करने में सहायक होता है ।

• युवतियां अपनी जुंबा क्लास के लिए अच्छी सपोर्ट देनेवाली स्पोर्ट्स ब्रा भी पहनें ।

• जुंबा करने के दौरान आपको पर्याप्त एनर्जी मिलती रहे , इसके लिए थोड़ा ड्राई फ्रूट खाएं । चाहें , तो हाई एनर्जी फ्रूट भी ले सकती हैं । • पहली क्लास में ही अपनी क्षमता को हो कर परेशान या निराश नहीं हों । कई बार ऐसा होगा कि डांस के मूव्स के दौरान जब सब बायीं ओर मूव कर रहे हों , तो आप दायीं तरफ मुड़ जाएं या सब झुक रहे हों , तो आप खड़ी ही रह जाएं । कुछ क्लास तक वर्कआउट मूव्स के कोऑर्डिनेशन में । प्रॉब्लम आ सकती है , लेकिन जल्दी ही या 2 से 3 क्लास के बाद आप म्यूजिक के अनुसार बॉडी के मूव करने के सही तरीके और समय के साथ तालमेल बिठा लेंगे । जुंबा के दौरान खाने की आदतों की तरफ खास ध्यान देने की जरूरत पड़ती है । सही आदतें अपना कर जल्दी ही वेट लॉस के अच्छे रिजल्ट मिलेंगे । गलत डाइट से अच्छे नतीजे मिलने में देर हो सकती है ।

• फूड हैविट को कंट्रोल में रखने के साथ ही अच्छी नींद की आदत डालना भी जरूरी है ।

• जुबा में काफी बाउंसिंग मूव्स होते हैं । इस डांसिंग एक्ससाइज के ढेरों मूवमेंट्स तेज गतिवाले होते हैं , इसलिए सही फ्लोरवाले जुंबा क्लास को ही जॉइन करें । वुडन फ्लोर पर होनेवाली जुबा क्लास को परफेक्ट माना गया है ।

• जुंबा करने के दौरान पानी की एक बोतल और टॉवल भी साथ रखें ।

• जुंबा शुरू करने के पहले बॉडी को वॉर्मअप करना ना भूलें । क्लास शुरू होने के कम से कम 20 मिनट पहले पानी पिएं । • वर्कआउट करते समय इंस्ट्रक्टर के मूवमेंट्स को हमेशा ध्यान में रखें ।

जुंबा में क्या न करे:

क्लास के पहले बहुत ज्यादा खाना नहीं खाएं । कोशिश करें कि आपके भोजन और जुंबा क्लास के बीच कम से कम 2 घंटे का अंतराल जरूर हो । फिर भी बहुत भूख महसूस हो रही हो , तो क्लास शुरू होने के कम – से – कम 45 मिनट पहले एक या दो बिस्किट या फिर एक केला खा सकती हैं । चाय , कॉफी जैसे ड्रिंक को क्लास शुरू होने के कम से कम 1 घंटा या 40 मिनट पहले ले लें । वैसे इन्हें लेने से बचें । अस्थमा , हृदय रोग या किसी गंभीर रोग के मरीज इस तरह का क्लास जॉइन करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श ले!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *