महिलाओं में बढ़ती थाइराइड की समस्या के विषय में पूरी जानकारी – Khoobsurat World

महिलाओं में बढ़ती थाइराइड की समस्या के विषय में पूरी जानकारी

thyroid symptoms in hindi

थायराइड शरीर में मेटाबॉलिज़म को नियंत्रण करने वाली एक ग्रंथि है अर्थात यह हमारे भोजन को जिसका हम सेवन करते है उसे ऊर्जा के रूप में बदलने का काम करती है| इसके साथ ही थायराइड हमारे हृदय, मांसपेशियों, हड्डियों व कोलेस्ट्रोल को भी प्रभावित करने का काम करती है| थायराइड आज के समय में काफी ज्यादा प्रचलित है इस लिए हर कोई यह जानना चाहता है आखिर थायराइड क्या है?

लेकिन थायराइड के विषय में अभी बहुत कम लोगो को ही जानकारी है| तो चलिए फिर आज मैं इस ब्लॉग के माध्यम से आप को थायराइड के विषय में जानकारी दूगी|

थाइरॉइड क्या है? [What is Thyroid]

थाइरॉइड ख़ास तौर पर महिलाओ को होने वाला एक रोग है| यह रोग हार्मोन्स के असंतुलन के कारण होता है| अगर शरीर में हार्मोन कम होने लगे और शरीर का मेटाबोलिज्म बहुत तेज़ी से बढ़ने लगे तो इससे शरीर की ऊर्जा बहुत तेज़ी से खर्च होगी और अगर यदि यह बढ़ जाये तो शरीर की मेटाबोलिज्म प्रक्रिया धीमी हो जाती है। ऐसे में शरीर में ऊर्जा बननी कम हो जाती है और थकान तथा सुस्ती बढ़ जाती है। इसे हम थायराइड कहते है|

Read also: Castor Oil Benefits For Hair And Skin In Hindi

थाइरॉइड के कारण/Thyroid in Hindi:

hypothyroid in hindi

थायरायडिस: यह केवल मात्र के बढ़ा हुआ थाइरॉइड ग्रंथि है जिसमें शरीर में थाइरॉइड हार्मोन बनने की स्थिति काम या खत्म हो जाती है|

दवाइयों के कारण: कई बार दवाइयों के ज्यादा ग्रहण करने से भी यह समस्या उतपन्न होती है एक प्रकार से कहा जाये तो यह साइड इफ़ेक्ट की तरह है जो की एक बीमारी कहलएगी|

ह्य्पोथालमिक रोग: थायराइट की यह समस्या पिट्यूटरी ग्रंथि के कारण भी हो सकती है, क्योंकि यह थायरायड ग्रंथि हार्मोन को उत्पादन करने के संकेत नहीं दे पाती। यह भी एक कारण है थायराइड होने का||

सोया पदार्थ का उत्पाद: इसोफ्लावोन गहन सोया प्रोटीन, कैप्सूल, और पाउडर के रूप में सोया उत्पादों का जरूरत से प्रयोग करने से भी व्यक्ति को इस के होने का भय है अत इस पर भी धयान दें|

शरीर के आयोडीन की कमी के कारण: शरीर में आयोडीन की कमी या अधिकता के कारण भी वक्ति को यह बीमारी हो सकती है|

तनाव: जब शरीर में तनाव बढ़ जाता है तो ब्लड प्रेसर के बढ़ने की वजह से भी यह समस्या आ सकती है| यह ग्रंथि हार्मोन के स्राव को बढ़ा देती है।

Read also: Keto Diet क्या है और मोटापा कम करने के लिए कीटो डाइट क्या भूमिका निभाता है? पूरी जानकारी

ग्रेव्स रोग के कारण: ग्रेव्स रोग थायराइड का सबसे बड़ा कारण है यह हम कह सकते है। इसमें थायरायड ग्रंथि से थायरायड हार्मोन का स्राव बहुत अधिक तेज़ी से बढ़ जाता है। ग्रेव्स रोग ज्यादातर 20 और 40 की उम्र के बीच की महिलाओं को प्रभावित करता है, क्योंकि ग्रेव्स रोग आनुवंशिक कारकों से संबंधित वंशानुगत विकार है, इसलिए थाइराइड रोग एक ही परिवार में कई लोगों को प्रभावित कर सकता है। इस विषय में आप को ध्यान देना चाहिए और डॉक्टरी सलाह पर ध्यान देंना चाहिए|

Read also: पसीने की बदबू से मिनटों में छुटकारा दिलाएंगे ये उपाय | पसीने की बदबू कैसे हटाये- घरेलू नुस्खे

निष्कर्ष:

तो यह रही थाइराइड से जुडी समस्याए जिनके बारे में मैंने आप को बताया|
थाइराइड ज्यादा जानलेवा नहीं है| पर शरीर को तोड़ कर यह उसे कमज़ोर ज़रूर बना देता है तो इस के बारे में यदि आप को जानकारी हो जाये की आप को थाइराइड की समस्या है तो तुरंत डॉक्टरी सलाह लें और इस विषय में पूरी जाँच करा कर इसका सही प्रकार से इलाज कराये|

आप का हमारे आज के इस ब्लॉग के बारे में क्या विचार है यह आप को इससे जुडी कोई भी नयी जानकारी हो तो हमसे ज़रूर साझा करे मुझे इस के बारे में जान कर लोगो की मदद करने का एक और जरिया मिलेगा, इसके लिए आप हमें कमेंट बॉक्स में अपना जवाब बताये| आप को हमारा आज का यह ब्लॉग कैसा लगा आप इस बारे में भी मुझे ज़रूर बताये| धन्यवाद||

One thought on “महिलाओं में बढ़ती थाइराइड की समस्या के विषय में पूरी जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *