Keto Diet क्या है और मोटापा कम करने के लिए कीटो डाइट क्या भूमिका निभाता है? पूरी जानकारी – Khoobsurat World

Keto Diet क्या है और मोटापा कम करने के लिए कीटो डाइट क्या भूमिका निभाता है? पूरी जानकारी

keto diet india

एक ऐसी स्थिति जिसमें वसा का उस सिमा तक नियंत्रित हो जाना की वह स्वस्थ के लिए हानिकारक हो मोटापा कहलाता है [what is fat]| मोटापा एक वयक्ति को न सिर्फ बीमार करती है बल्कि आयु सिमा को भी कम कर देती है| एक सामन्य वयक्ति का भार उसकी लम्बाई और उम्र के अनुकूल होना चाहिए अर्थात युवा अवस्था में एक वयक्ति का भार ३० कि.ग्रा/मी से अधिक होना चाहिए|

मोटापा शरीर में अनेक प्रकार कि बीमारियों को जन्म देता है [overweight problems जैसे हिरदये रोग, मधुमेह, नीड न आने कि समस्या और बार तो यह कैंसर जैसी घातक बीमारी तक को भी शरीर में जगह दे देता है| मोटापे के यदि प्रमुख कारन कि बात कि जाये तो अत्यधिक कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन, शारीरिक गतिविधियों का अभाव, आनुवांशिकी का मिश्रण यह सभी मोटापे कि वजह बन सकते है| हालांकि मात्र आनुवांशिक, चिकित्सकीय या मानसिक रोग के कारण बहुत ही कम संख्या में पाये जाते हैं। पर यह सब वास्तविक बाते है| अगर साधारण सब्दो में कहे तो मोटापा किसी भी तरह से शरीर के लिए, शारीरिक बढ़ोतरी के लिए, लम्बे जीवन यापन के ले लिए सही नहीं|

मोटापा के कारण/Reason Of Fat In Body:

मोटापा कई करने की वजह से हो सकते है.

  • अधिक मात्रा में चर्बी युक्त भोजन करना मोटापा को बढ़ता है|
  • शारीरिक क्रिया के सही तरह से न हो पाने की कारण भी वयक्ति मोटापे का शिकार हो सकता है|
  • कई बार बाल्यावस्था के समय में सही प्रकार से आहार न मिले या अत्यधिक तेल वाला भोजन करने के कारण भी युवा अवस्था में वयक्ति मोटापे का शिकार हो सकता है|
  • मोटापा होने का एक कारण हाइपोथाइरॉयडिज़्म (अवटु अल्पक्रियता) भी हो सकता है| यह एक प्रकार की बीमारी है जिसका इलाज मुमकिन है|
  • कम व्यायाम करना या अस्थिर जीवन-यापन मोटापे का प्रमुख कारण है।

Read also: Benefits of Vitamin C | Vitamin C Body Me Kaise Kaam Karti Hai [Full Guide]

keto diet

How to Lose Weight: वजन बढ़ने के बाद अक्सर देखा जाता है लोग खाना-पीना छोड़ देते है जोकि गलत है| वजन घटने के लिए खाना बंद करने या काम करने की ज़रुरत नहीं बल्कि यह जानने की ज़रुरत है की किस तरह का खाना खाना खाना चाहिए| अक्सर हम यही सोचते है की यदि हम जिम जाये, हम न खाये या कम खाये तो इससे हम अपने वजन को घटा सकते है पर यह सोच गलत है दोस्तों|| खाना कर कर देने से हम सिर्फ बीमार होंगे और इससे ज्यादा हमें कोई फायदा नहीं होगा| हां बीमार होने के बाद शायद आप कुछ पतले हो जाये जोकि हमारी एक भूल है|

हम डाइट की मदद ले सकते है अपने वजन को कम करने के लिए. तो चलिए फिर जानते है सबसे पहले की किस तरह का डाइट आप के फैट को कम कर सकता है|

वजन को कम करने के लिए बहुत तरह के डाइट होते है और उन सभी डाइट के बारे में सही तरह से जानकारी होना बहुत ज़रूरी है| इसलिए आज मैं आप को वजन कम करने कीटो डाइट की तरह से अपनी भूमिका निभाता है इस बारे में बताऊंगी| और भी कई प्रकार के डाइट होते है पर उनके बारे में जानने के लिए आप हमारे दूसरे पोस्ट में देखे जहा आप को इस बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी, लेकिन आज हम वजन घटने के लिए जो डाइट सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है उस बारे में बतायेगे| तो चलिए फिर जानते हजै कीटो डाइट क्या है Keto diet india और यह किस तरह से काम करती है|

Read also: सिर्फ 1 महीने में लम्बाई बढ़ाने के आसान घरेलु उपाय | How To Increase Height Naturally At Home

Keto डाइट/Keto Diet For Beginners:

कीटो डायट एक ऐसा diet है जिसमें ग्लूकोज़ की जगह कीटोन्स शरीर को एनर्जी देने का काम करती है| हर वयक्ति को को अलग संख्या के कीटोन्स की ज़रुरत होती है| कार्बोहाइड्रेट्स की जगह शरीर fat burn कर एनर्जी के रूप में इस्तेमाल करता है. इस डायट में कार्बोहाइड्रेट carbohydrates लिए तो जाते हैं लेकिन बहुत ही कम मात्रा में….

इसमें प्रोटीन और फैट्स कीकी ज्यादा मात्रा में लिया जाता है| आमतौर पर देखा जाए, तो ग्लूकोज़, शरीर को एनर्जी देने का मूल कारण बनता है| लेकिन, जब शरीर कार्बोहाइड्रेट्स लेना कम कर देता है तो ये मेटाबॉलिक स्टेट “Metabolic state” में पहुंच जाता है जिसे ‘कीटॉसिस’ कहते हैं.

इसमें शरीर में लिवर, फैट को गलाकर कीटोन्स “ketones” में बदलता है. जिससे व्यक्ति के शरीर को एनर्जी मिलती है. कीटोन्स, एनर्जी का एक ऐसा दूसरा विकल्प है जो पूरे शरीर में एनर्जी सप्लाई करता है. यहां तक की दिमाग तक ये इस एनर्जी को भेजता है. कुल मिला कर यह व्यक्ति को पतला करने में काफी असरदार डाइट है|

हर रोज़ की अगर बात की जाये तो, कीटो डायट के दौरान केवल 50 ग्राम से कम कार्बोहाइड्रेट्स लेना होता है| अच्छा नतीजा मिले, इसके लिए 20 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स लेना इस डायट में एक आदर्श मात्रा मानी गई है. जहां तक बात है प्रोटीन लेने की तो इस डायट में बॉडी के हर किलो के अनुसार प्रोटीन लिया जाता है. यानी एक किलो में आप 1.3 से 2.2 ग्राम तक प्रोटीन लेते हैं. मसलन, अगर बॉडी वेट 60 है तो 60×1.3-2.2 ग्राम प्रोटीन को गुणा कर के ले सकते है|

लेकिन यह व्यक्ति के अनुसार अलग अलग मात्रा में लेना तय किया जाता है| जिस व्यक्ति की जीवनशैली साधारण है उसके लिए प्रोटीन के मात्रा 1.3 ग्राम सही है| और वही दूसरी तरफ जो लोग स्ट्रेंथ ट्रेनिंग कर रहे है उसके लिए यही प्रोटीन की मात्रा 2.2 ग्राम तक होगी है| यह फैट सेल्स को तोड़ने में आप की मदद करता है| यह बहुत तरह से फायदे मंद है जैसे: या बे वक़्त भूक लगने की समस्या को कम का देता है, मीठा या खट्टा खाने की जो छह होती है उसे भी कम कर देता है| इसे नियमनुसार लेना बहुत ज़रूरी है|

Read also: मसल्‍स बढ़ाने और वजन घटाने के लिए बेस्‍ट प्रोटीन पाउडर | बॉडी बिल्डर पाउडर प्राइस | Health Tips

keto diet tips

Keto diet के फायदे/Ketogenic Diet Rapid Weight Loss Guide:

  • कीटो डायट को लेना का एक सबसे महत्वपूर्ण कारण होता है वजन घटाना. इसमें शरीर फैट बर्न करने की मशीन की तरह काम करता है. जिसकी वजह से वजन तेजी से गिरता है. कार्बोहाइड्रेट्स, क्योंकि कम मात्रा में लिए जाते हैं, इसलिए इंसुलिन अपने अंदर फैट जमा रखता है. जोकि शरीर एनर्जी में बदलने के लिए इस्तेमाल करता है. फैट की लेयर जल्दी-जल्दी कम होने लगती हैं.
  • डायबिटीज़ घटाने में भी है ये डायट कामयाबः ब्लड शुगर लेवल कम होता है जिससे डायबिटीज़ ‘diabetes’ नियंत्रित रह पाती है. मरीज को ब्लड शुगर नियंत्रित रखने की जहमत कम उठानी पड़ती है.
  • कई समय से शोधकर्ता कीटो डायट को फॉलो कर रहे हैं और अब वह इससे बात को मैंने लगे है है. क्योंकि इस डायट से एपीलेप्सी जैसी समस्या को भी खत्म किया जा सकता है, और वह भी कम से कम दवाइयों के इस्तेमाल से……
  • अगर इस बात पर धयान दिया जाये तो कार्बोहाइड्रेट्स के मुकाबले फैट्स को एनर्जी का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है. ये पेट को लंबे समय तक भरा रखते हैं और बेवक्त लगने वाली भूक को भी रोक देता है जोकि वजन को कम करने के लिए बहुत ज़रूरी है|
  • ब्लड शुगर के लेवल को बनाए रखने में मोटापा काफी मददगार होते हैं| इसमें कार्बोहाइड्रेट्स कम लिए जाते हैं और कीटोन्स, शरीर के साथ दिमाग के लिए एनर्जी का अच्छा स्रोत माने जाते हैं. कीटो डायट से मानसिक केंद्र भी काफी हद तक बेहतर होता है| यह मोटापा कम करने और बीमारियों से दूर रहने का एक अच्छा स्रोत है|
  • कीटो डाइट चेहरे पर होने वाले मुहसो की समस्या को भी खत्मकरने में मददगार है|

Read also: पसीने की बदबू से मिनटों में छुटकारा दिलाएंगे ये उपाय | पसीने की बदबू कैसे हटाये- घरेलू नुस्खे

कीटो डायट की शुरुआत कैसे करें /Keto Diet Menu For Beginners?

कीटो डाइट को शुरू करने से पहले इसके बारे में अच्छे से जानकारी हासिल करना बहुत ज़रूरी है| जैसा की आप ने पढ़ा यह बहुत तेज़ी से वजन को कम करती है तो इसका अर्थ हुआ की इसके अनुपात को जानना और उसे समझना ज़रूरी है| मतलब,शरीर को किस हिसाब से माइक्रोन्यूट्रीयंट्स की जरूरत है और कैलोरी कितनी लेनी है, जीवनशैली किस प्रकार है, ये सभी चीजें कीटो डायट में बहुत ज़रूरी हैं. शरीर कितना कीटो फ्रेंडली काम कर पाता है, इस बात पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी है क्युकी यहाँ सवाल आप की हेल्थ का है|

कीटो डायट में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं/Keto Diet Foods?

कीटो डाइट से वजन घटाए:

  • क्या नहीं खाना चाहिए- चावल, गेहूं, कॉर्न, ब्रेड, पास्ता, पिज्जा, दूध, दाल, आलू, सोया उत्पाद, बेक की हुई चीजें, फल जिनमें फ्रक्टोज़ की मात्रा ज्यादा होती है यह सभी चीजों के सेवन से बचे| और फलो की बात करे तो जैसे सेब, केला, संतरा, आम आदि. इन सभी फलों में चीनी की भरपूर मात्रा पाई जाती है. तो इन सब को भी आप को सेवन नहीं करना है|
  • क्या-क्या खाना चाहिए- फिश, चिकन, मटन, अंडे, पालक, केल, पत्तागोभी, जुखीनी, ब्रॉकली, हाई फैट दूध. चीज, मक्खन, स्टीविया चीनी, बादाम, कद्दू के बीज, अखरोट, सूरजमुखी के बीज, नारियल का तेल, वर्जिन जैतून का तेल आदि चीजों का सेवन आप कीटो डाइट में कर सकते है यह शरीर को ऊर्जा देगी|
  • कीटो डायट का और अच्छा नतीजा पाने के लिए Intermittent Fasting Diet (एक ऐसी डायट जिसमें लोग रात का खाना 8 बजे तक लेकर अगले दिन 8 बजे नाश्ता करते हैं. यानी 12 घंटे बीच में कुछ नहीं खाते हैं) के साथ फॉलो करना बहुत ज़रूरी है| इससे कीटोन्स लेवल को बढ़ावा मिलेगा. इसके अलावा आप रनिंग, साइकलिंग और वेट ट्रेनिंग भी कर सकते हैं. मसल में जमा फैट इसकी मदद से कम होगा.
  • शरुआती लोग कीटो डायट फॉलो करने के लिए वेबसाइट, इंटरनेट, फेसबुक और सोशल मीडिया का सहारा ले सकते हैं. सप्लीमेंट्स ले सकते हैं जो मैग्नीशियम और विटामिन्स की पूर्ति करें. फिर भी मैं आप को सलाह दूगी की आप एक बार डॉक्टर से सलह ज़रूर लें वह आप को एक बेहतर तरीका बताये गए| साथ ही साथ किस तरह की चीजे आप के स्वस्थ के लिए ज़रूरी है उनसे इस बारे में ज़रूर सवाल करे

Read also: Height Kis Age Tak Badhti Hai aur Height ko Kam Karne ka Tarika | How to Stop Height Growth

तो यह रही कीटो डाइट से जुड़े आप के सभी सवालो के जवाब मैं उम्मीद करती हु की आप को आज का यह पोस्ट अच्छा लगा होगा| आज के इस आर्टिकल में मैंने आप को कीटो डाइट से जुड़े सवालो के जवाब दिए उम्मीद है आप ने सझेगे| आप को आज का यह पोस्ट कैसा लगा मुझे कमेंट कर के ज़रूर बताये साथ ही हमारे इस पोस्ट को अपना सहयोग ज़रूर दें | धन्यवाद||

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *