फेस सीरम क्या है, फायदे और यह कैसे काम करता है पूरी जानकारी | Face Serum

Face Serum

FACE SERUM-

रूटीन स्किन केअर के अलावा अपनी स्किन के लिए कुछ एक्स्ट्रा केअर करने की जरूरत है , क्योंकि बदलते मौसम , प्रदूषण , तेज ठंडी या गरम हवाएं जैसी कई वजह हैं , जो चेहरे से नमी चुरा लेती हैं । त्वचा रूखी और वक्त से पहले उम्रदराज दिखने लगती है । ऐसे में त्वचा को कुछ खास पोषण दिया जाए , जो त्वचा में मौजूद नमी को बरकरार रखे । Face Serum (फेस सीरम) त्वचा के रूखेपन की समस्या को सुलझा सकता है । सीरम को आप मल्टीफंक्शनल ब्यूटी प्रोडक्ट जैसा मान सकती हैं । चेहरे पर तुरंत ग्लो लाने के लिए सीरम बहुत अच्छा है इसके लिए बस ज़रूरी है की सीरम का सही तरह से चुनाव हो| सीरम स्किन के लिए बहुत फायदेमंद है, जो की आप को आगे ब्लॉग में पता चल जायेगा पर उससे पहले जान लेते है सीरम क्या है और किस तरह से लाभकारी है|

What Is Face Serum ? सीरम क्या है?

स्किन सीरम को ले कर लोगों की सोच है कि यह ब्यूटी प्रोडक्ट हमारे स्किन केअर के लिए नहीं है । जबकि आजकल इसके बढ़िया रिजल्ट को देखते हुए यह पहला ऐसा ब्यूटी प्रोडक्ट है , जिसे त्वचा पर क्लींजिंग व टोनिंग के बाद लगाया जा सकता है । यह किसी भी उम्र की महिला इस्तेमाल कर सकती है । लेकिन सबसे पहले अपने स्किन टाइप को जान लें , क्योंकि स्किन टाइप को देखते हुए सीरम की खरीदारी करनी होती है । सबसे पहले हम वॉटर बेस्ड सीरम की बात करते हैं ।

यह सीरम खासतौर पर तैलीय त्वचा के लिए बेहद उपयोगी है । कुछ सीरम ऑइल बेस्ड होते हैं , जो रूखी त्वचा के लिए असरदार माने जाते हैं । दिल्ली के एलिगेजा कॉस्मेटिक की कॉस्मेटोलॉजिस्ट डॉ . सीमा मलिक के बिक , ” दरअसल सौरम केसट्रेटेड मॉइश्चराइजर है । इसे जरा सी मात्रा में लगाने पर ही यह त्वचा में न जाहो कर असर करता है । सीरम फेस क्राम की तलना में महंगा होता है । यह अल्कोहल फ्री आर डर्मेटोलॉजिकली टेस्टेड होता है । ” आजकल तरह – तरह के सीरम बाजार में उपलब्ध हैं ।

जैसे फेस ग्लो के लिए , वाइटनिंग सीरम और एंटी एक्ने सीरम । एजलेस लाइटनिंग सीरम , फेअरनेस सीरम , परफेक्ट रेडिएंस , इंटेंस वाइटनिंग सीरम भी काफी पॉपुलर है|

Face Serum in hindi

सीरम के फायदे | Benefits Of Face Serum-

  • फेस सीरम के कई लाभ हैं । सीरम त्वचा को हाइड्रेट करता है और स्मूद लुक मिलता है । यह नॉन ग्रीसी फॉर्मूला है ।
  • यह त्वचा के दाग – धब्बे , सांवलेपन और बदरंग समस्या को कम करता है ।
  • यूवी किरणों से त्वचा सुरक्षित रहती है ।
  • यह प्रदूषण से भी बचाता है ।
  • यह ब्लैकहेड्स को बनने से रोकता है और रोमछिद्रों को ब्लॉक नहीं होने देता ।
  • इससे त्वचा का लचीलापन बना रहता है । स्किन टोन सुधरती है ।
  • यह कोशिकाओं को पुनर्जीवित करता है ।
  • त्वचा को मुलायम बनाता और सूर्य की किरणों से प्रभावित त्वचा को सुधारता है । इसीलिए इसके नियमित इस्तेमाल से त्वचा जवां और स्वस्थ दिखती है । ज्यादातर सीरम में विटामिन बी3 , नेचुरल प्लांट वाइटनिंग एक्सट्रेक्ट होते हैं ।

सीरम कैसे काम करता है- How To Use Face Serum

सीरम का इस्तेमाल करना बहुत आसान है । चेहरे को पहले क्लीजिंग मिल्क या फेस वॉश से साफ करते है| सीरम की कुछ बूंदें अपने हथेली पर लें और हलके हाथो से फेस की मसाज करें । आप चाहें , तो साफ़ उंगलियों के पोरों से भी मसाज कर सकती हैं । बहुत ड्राई स्किन की समस्या होने पर इसे आप मॉइस्चराइजर के साथ भी मिक्स करके इस्तेमाल कर डॉ . सीमा बताती हैं , ” नियमित इस्तेमाल करने सिर्फ 4 सप्ताह के अंदर आपको इसके नतीजे मलंगे ।

स्किन सीरम से त्वचा सिर्फ स्वस्थ नहीं, बल्कि यह झरियों को रोकने में फायदेमंद है । इसके अलावा पिगमेंटेंशन त्वचा साफ रहती है । क्रीम की तुलना का असर ज्यादा बेहतर रहता है । यह ऑयली स्किन के लिए भी काफी अच्छा विकल्प है । अगर त्वचा पर एक्ने की समस्या है , तो भी स्किन सीरम का प्रयोग किया जाता है । ” सिकन सारम में अतिरिक्त ग्लाइकोलिक एसड भी होता है , जो एक्सफोलिएटर एजेंट की तरह काम और करता है । ब्यूटी एक्सपर्ट मानते हैं कि बड़ा उसका लिए सीरम असरदार ही नहीं , बड़े काम का ब्यूटी उपलब्ध ओडक्ट है । ब्यूटी एक्सपर्ट अंधिका पिल्लाई के मुताबिक विटामिन सी सीरम मेच्योर स्किन के लिए । फेअरनेस काफी असरदार है । अगर सीरम सही उम्र में लगाना शुरू कर दें, तो त्वचा की कसावट लबी उस तक सीरम बनी रहेगी ।

K-BEAUTY-

कैरिअर ऑइल हर तरह की स्किन के लिए-

आप जब भी होममेड सोरम बनाएं , तो असेंशियल ऑइल को मुख्य ऑइल में मिलाएं । यह मुख्य ऑइल अलग – अलग स्किन टोन के मुताबिक अलग – अलग होते हैं ।

नॉर्मल स्किन : जोजोबा ऑइल , आल्मंड ऑइल और कोकोनट ऑइल । एप्रिकॉट ऑइल में आप नेरोली ऑइल मिला सकती हैं ।

एक्नेप्रोन स्किन : अरगन ऑइल , ग्रेपसीड ऑइल , टीटीऑइल , सनफ्लावर आइल । ड्राई स्किन : ऑलिव ऑइल और कोकोनट ऑइल कुछ बूंदें लैवेंडर ऑइल की मिला कर लगाएं ।

ऑइली स्किन : ग्रेपसीड ऑइल , अरगन ऑइल में लेमन या ऑरेंज ऑइल की कुछ बूंदें मिला कर लगाएं ।

सेंसेंटिव स्किन : आल्मंड ऑइल में तुलसी ऑइल मिला कर लगाएं । अगर आपकी त्वचा जरूरत से ज्यादा संवेदनशील तो असेंशियल या कैरिअर ऑइल की जगह सिर्फ सीरम फॉर सेंसेटिव स्किन का ही इस्तेमाल करें ।

मेच्योर स्किन के लिए : कोकोनट ऑइल में नैरोली ऑइल की कुछ बूंदें मिला कर लगाएं ।

कॉम्बिनेशन स्किन के लिए : एप्रिकॉट ऑइल प्रभावकारी है । इसमें चाहें , तो आप कुछ बूंद नेरोली ऑइल भी मिला सकती हैं । रूमा

सौंदर्य निखार घर पर बनाएं सीरम विटामिन ई सीरम :

इस सीरम को रातभर चेहरे पर लगा कर रखें । आपको चाहिए विटामिन ई के कैप्सूल , लोबान का तेल , बादाम का तेल , एलोवेरा जैल और एक कांच की बोतल । साफ कटोरे में 2 बड़े चम्मच प्रत्येक सामग्री लें और इसे अच्छी तरह से मिलाएं । विटामिन ई के 2 कैप्सूल्स तोड़ें और उनमें से तेल निकाल कर बाकी की सामग्री में मिलाएं ।

होममेड विटामिन सी सीरम | Homemade Serum For Face:

विटामिन सो पाउडर फिल्टर पानी भिगोएं । इसमें एलोवेरा जैल और विटामिन ई ऑइल डाल कर मिक्स करें । इसे फ्रिज में रखें । सिर्फ इतनी ही मात्रा में बनाएं कि आप 2 हफ्ते तक इस्तेमाल कर लें । फेस वॉश से चेहरे को धोएं और सोने से पहले इस सीरम से चेहरे की मालिश करें । इसकी मालिश तब तक करें , जब तक आपकी त्वचा इसे सोख ना ले । यह सीरम रातभर में त्वचा में सुधार लाएगा । यह जैल त्वचा से संबंधित समस्याओं जैसे सनबर्न , रैशेज , मुंहासे आदि से आराम दिलाता है ।

यह वास्तव में एक चमत्कारी जैल है , जो त्वचा की सभी समस्याओं को दूर करता । बादाम का तेल त्वचा को हाइड्रेट करता है और सीरम के लिए एक अच्छे बेस की तरह कार्य करता है । इसमें भी विटामिन ई पाया जाता है । हाइपर पिगमेंटेशन और असमान रंगतवाली त्वचा के लिए, यह सीरम बहुत उपयोगी है ।

तो यह रही सीरम से जुडी कुछ ख़ास बाते जो मुझे लगता है आप के लिए जानना ज़रूरी थी, मैं उम्मीद करती हु की आप को इससे कुछ बहुत फेस सीरम को जानने में मदद मिली होगी आप को आज का यह ब्लॉग लगा मुझे कमेंट में ज़रूर बताये साथ ही हमरे आज के इस ब्लॉग को लाइक और शेयर ज़रूर करे, और हमारी वेब्सीटेस पर नयी अपडेट के लिए सब्सक्राइब भी ज़रूर करे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *