जाने क्यों है दिवाली में झाड़ू पूजा का विशेष महत्व

Diwali 2019

दीपावली व घनतेरस के दिन नया झाड़ू खरीदने व उसकी पूजा करने की ” परपरा सदियों पुरानी है । ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से घर में लक्ष्मी का वास होता है । झाड़ू खरीदने समय ध्यान रखें कि एक मे बार १, ३ या 5 झाड़ खरीदें, क्योंकि इस तरह झाड़ खरीदना शुभ माना जाता है ।

नया झाडू को पूजने से पहले उससे घर के कछ हिस्सों में इस्तेमाल कर ले। इसके बाद उसे किसी साफ – सथरे स्थान पर रखें । रात में लक्ष्मी पूजन के बाद पूजा की थाली में कुमकुम व चावल से इस झाड़ की भी पूजा कर लाल रंग व पचरंगी धागे को उस पर 5 बार लपेट कर बांधे । इस प्रकार झाडू का पूजन पूर्ण माना जाता है । पूजा के बाद अगले दिन से इस झाड़ू का इस्तेमाल किया जा सकता है ।

धार्मिक मान्यताओं के अनसार झाड़ू का अपमान करने से लक्ष्मी का अपमान होता है । शास्त्रों में झाड़ू को लक्ष्मी का प्रतीक माना गया है , जो गंदगी और धूल – मिट्टी में निवास करनेवाली दरिद्रता को रोज घर से बाहर करती है। घर साफ रहेगा , तो जीवन में धन संबंधी कई समस्याएं स्वयं ही दूर हो जाएंगी |

                                वास्तु के अनुसार घर के कूड़े – कचरे में कई तरह की नकारात्मक शक्तियां होती हैं , जो घर और वहां रहने वालों पर बुरा प्रभाव डालती हैं । इससे परिवार की सुख – शांति में भी परेशानियां उत्पन्न हो जाती हैं । इनसे मुक्ति पाने के लिए घर को साफ – सुथरा रखना जरूरी है जिसके लिए हम सभी झाड़ का इस्तेमाल करते हैं । ऐसी भी मान्यता है कि स्थायी रूप से लक्ष्मी का वास चाहिए , तो घर के आसपास कि भी मंदिर में ब्रह्म मुहूर्त में झाड़ दा करना चाहिए । यह काम किसी विशेष दिन जैसे कोई त्योहार या शुक्रवार के दिन करना चाहिए । यह परंपरा पराने समय से चली आ रही है । कहा जाता है कि जिस तरह से हम देवी लक्ष्मी को आदर देते हैं , उसी तरह से झाड़ का भी सम्मान करें । इसका यह मतलब नहीं है कि इस पर राज फूल , अक्षत और प्रसाद चढाएं। इसका आदर करने से यह मतलब है कि इस पर पांव ना लगाएं । घर की गंदगी साफ करने के बाद इसे अच्छी तरह साफ करके घर में नियत स्थान पर रखें । इसे कभी भी गीला ना छोड़ा । इसे पूजा घर , भंडार घर और बेडरूम में ना रखें । बेडरूम में झाड़ को रखने से घर में कलह होने की आशंका बढ़ जाती है बेहतर रहेगा , पूजा घर को साफ करने के लिए अलग से साफ कपड़ा रखा जाए ।

झाड़ू को कभी लांघना नहीं चाहिए और ना ही कभी इसे जलाना चाहिए । बुजुर्ग कहते हैं कि इससे मां लक्ष्मी का अपमान होता है । उत्तर भारत के कई क्षेत्रों में माना जाता है कि झाड़ को कभी खड़ा करके नहीं रखना चाहिए । इससे भी घर में कलह होती है । इसे हमेशा लेटा कर रखना चाहिए । जिस तरह धन को छिपा कर रखते हैं , उसी तरह झाड़ को भी घर में आने – जानेवालों की नजरों से दूर रखें । वास्तुशास्त्र के अनुसार झाड़ को हमेशा नियत स्थान पर छिपा कर रखना चाहिए । इससे घर में बरकत बनी रहती है । इसे घर में कहीं पर भी रख देने से पैसे की तंगी बढ़ती है ।

नए घर में प्रवेश कर रहे हैं , तो उस घर में अपना पुराना झाड़ ले कर ही प्रवेश करें । कहा जाता है कि ऐसा ना करने पर लक्ष्मी पुरानी घर में ही रह जाती है और नए घर में सुख – समृद्धि का विकास रुक जाता है| बहुत समय से इस्तेमाल हो रही झाड़ू को घर में ना रखें । उसकी जगह ‘ नयी झाड़ू लानी चाहिए। झाड़ू के टूट जाने पर उसे तुरंत बदल दें टूटी झाड़ू के इस्तेमाल से भी पारिवारिक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं । पुरानी । झाडू बदल कर शनिवार के दिन नयी झाड़ू लाना शुभ माना गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *