दीपावली पर घर की सजावट करनेे के आसान टिप्‍स

diwali decorations ideas

दिवाली के दिन घर को सजाना उतना ही जरूरी है, जितना देवी लक्ष्मी व गणेश जी की दिवाली के शुभ अवसर पर पूजा करना। साफ – सुथरे व सजे हए घर में ही माता लक्ष्मी का आगमन होता है। पांच दिन तक लगातार चलने वाले इस त्योहार में हम घर की सजावट लाइट्स, फल, रंगोली और कंदीलों से घर की सजावट करते हैं ।पर, क्यों ना इस बार इन सब चीजों से ही कुछ अलग तरह की सजावट करें, जिससे कि हर किसी की नजरें इस पर टिक जाएं और यह आपका स्टाइल स्टेटमेंट बन जाए।

लाइट की झालरें:

दीवाली रोशनी का त्योहार है । इसे जलती – बुझती लाइट की लड़ियों से सजाना बहुत ही आसान है. रोशनी के लिए घर की सजावट परम्परागत तौर पर दियो से की जाती है जो की मुझे बहुत पसंद है| पर इससे बच्चो के जलने वह कोई हादसा होने का खतरा होता है… यह बात हम सभी बहुत अच्छे से समझते है| आज कल इसी वजह से लोग दियो का उपयोग सिर्फ पूजा के समाये ही करते है| और बहार की सजावट के लिए लड़ियो को घर के बहार लगा देते है, पर क्यों न इस बार जगमगाहट घर के अंदर लायी जाये| इन झालरों को घर के अंदर दरवाजे और खिड़कियों के चारों और चौखट के साथ लगाया जाए , तो हल्की लाइट से घर का सारा नजारा ही बदल जाता है ।

home decor

• फर्नीचर जैसे टेबल , साइड यूनिट या शेल्फ । के चारों तरफ भी यह झालर लगा सकती है । आईने के चारों तरफ लगा देने से तो जादई । प्रभाव पैदा होता है ।

• इन झालरों को खिड़की व दरवाजे पर लगे । झीने / ट्रांसपेरेंट परदे के पीछे लगा देने से घर । किसी स्वप्न लोक से कम नहीं लगेगा । ।

• ट्रांसपेरेंट परदा नहीं है , तो भारी परदों को खांच कर बांध दें । इस मोटे परदे के पीछे की तरफ इसके रंग से मेल खाती या फिर कॉन्ट्रास्ट रंग की पतली – झीनी साड़ी या दुपट्टा । परदे की रॉड के ऊपर से टांग दें । साड़ी के पीछे की तरफ झालर लगा दें ।

• इसी तरह पतली झीनी साड़ी या दुपट्टे को खिड़की , सोफे के ऊपर , किसी पेंटिंग या दीवार जिसे आप हाईलाइट करना चाहती हैं , लगा कर वहां झालरें टांग सकती हैं ।

घर के किसी खाली हिस्से , जैसे कि पौधों से ऊपर के हिस्से पर झालरों का परदा टांग दें । इससे फेस्टिव लुक पैदा होगा|

• इन झालरों का गैंडलियर बना कर इसे डाइनिंग टेबल के ऊपर या किसी कोने पर टांग दें । कोने पर टांगा है , तो उसके नीचे के हिस्से को अच्छी तरह से सजा दें । इस तरह यह दीवाली का डेकोरेटिव कॉर्नर बन जाएगा ।

• अलग – अलग शेप के शीशे के गिलासों के बीचोंबीच गोटा बांध कर फूल बना दें और इन गिलासों को घर में चारों तरफ रख दें । इनमें लाइट की छोटी पतली झालर रख दें । यह लाइट गिलास में से ज्वेलरी की तरह चमकती हुई दिखायी देंगी।

फूलों से सजावट:

diwali decorations idea in hindi

दीवाली का त्योहार फूलों के बिना अधूरा है । हम इस दिन गेंदे के फूलों से एक ही स्टाइल में घर की सजावट करते आए हैं । इस दीवाली में सजावट थोड़ी हट कर करते हैं ।

• इस बार फूलों के हार का परदा बना कर टांगें । इसे बनाने के लिए फूलों को एक – दूसरे से कुछ दूरी पर पिरोते हुए लड़ी बनाएं । ये फूल घर के डेकोर से मैच करते हुए रंगबिरंगे लाल , संतरी , पीले और गुलाबी रंग के हो सकते हैं । ये लड़ियां थोड़ी थोड़ी दूरी पर टांगें । इन्हें टांगते ही घर में । उत्सव का सा माहौल बन जाता है ।

• इन फूलों की लड़ियों से मंदिर के पीछे के हिस्से को सजा सकती हैं । इसी तरह , घर के किसी कोने को पीतल के किसी डेकोरेटिव आइटम या दीपदान से सजाना चाहती हैं , तो उस कोने की । दीवार को इन फूलों के हारों की लड़ियों से सजा कर उसे आकर्षण का केंद्र बना सकती हैं । चाहे , तो इन हारों को हैंगर्स में टांग कर विंड चाइम की तरह खाली दीवार को सजा सकती हैं । इन हारों के लिए लाल और पीले फूलों के अलावा रंगबिरंगे कागज व कपड़े से बने आर्टिफिशियल फूल इस्तेमाल में लाएं और बीच – बीच में गोल्डन बॉल टांग दें , इससे हैंगिंग चमकदार लगेगी । इन फूलों के हार के साथ पूरी लंबाई में साटिन के लाल और गुलाबी रंग के रिबन लगा दिए । जाएं , तो हार और भी सुंदर लगेगा । इन हारों को खिड़की के चारों तरफ या सोफे के पीछे की जगह पर लंबाई या गोलाई की शेप में लगाएं ।

• इन फूलों के हार को गैसवाले बैलून के साथ टांग कर कमरे में छोड़ दें , जिससे ये हार छत के पास तैरते नजर आएंगे । हर बैलून के साथ अलग अलग लंबाईवाले हार बांधे । सफेद बैलून के बजाय लाल या चटकदार बैलून इस्तेमाल करें ।

• परदे के किनारों पर भी फूलों के हार की लड़ियां लगा सकती हैं । परदों को बांधने के लिए भी इन फलों का इस्तेमाल कर सकती हैं । परदे को एक तरफ खींच कर बांध दें और इसके चारों तरफ फलों के हार लपेट दें । चाहें , तो जहां पर परदे को बांधा है . उस हिस्से पर पिन से फूल लगा दें । परदे के रंग को ध्यान में रख कर फल के रंग को चनें । फूलों के हार का गैंडलियर बना कर कमरे की छत के बीचोंबीच या किसी किनारे पर लगाएं । चाहें , तो इन्हें शैडलियर पर भी टांग सकती हैं । कमरे का पूरा लुक ही बदल जाएगा ।

कंदील:

diwali decorations idea

कागज की लालटेन या कंदीलों के बिना दीवाली की सजावट अधूरी मानी जाती है । रंगबिरंगी कंदीले सभी को पसंद आती हैं ।

• इन्हें एक कतार में टांग सकती हैं । अलग – अलग साइज और रंग की कंदीले एक ग्रुप में कमरे के बीचोंबीच या किसी किनारे पर अलग – अलग ऊंचाई पर भी टांग सकती हैं । इन्हें ग्रुप में 3 , 5 या 7 की विषम संख्या में टांगा जाए । तो सुंदर अहसास पैदा करती हैं ।

एक ही रंग के सारे कंदील टांगने से सौम्य लुक पैदा होता है । अलग – अलग रंग के कंदील टांगने से कमरा शोख और खुशनुमा लगता है । रंगोली हम ज्यादातर घर के बीच के हिस्से में रंगोली बनाते हैं । लेकिन किनारों व साइड पर रंगोली करने की बात तो हम कभी सोचते नहीं । कार्नर या  में रंगोली डिजाइन बनाने से घर बिलकुल अलग और सुंदर नजर आता है ।

रंगोली के डिजाइन:

diwali-rangoli

गुलाल , फूलों , दालों , चावल के पानी आदि किसी भी चीज से अपनी सहूलियत के अनुसार बना सकती हैं । इसे घर में रखे मोतियों ,

दीवाली विशेष रिबन , लेस , शीशे आदि से भी बना सकती हैं । रंगोली को आकर्षक बनाने के लिए इसमें कैंडल , फूल , मिट्टी के छोटे डेकोरेटिव पॉट आदि रख सकती हैं ।

• घर के प्रवेश द्वार और कोने पर बनायी गयी रंगोली में दीए रख सकती हैं । कोने में एक लाइन में बनाए गए रंगोली के छोटे सुंदर डिजाइन के बीचोंबीच कतार में दिए रखें । लकड़ी के बोर्ड या वेडिंग कार्ड पर सुंदर डिजाइन बना कर उनमें दीए रख कर घर के किसी भी कोने में रख सकती हैं । दीए के आसपास के हिस्से को फूलों से सजा सकती हैं ।

सेंटर टेबल डेकोरेशन:

• दीवाली पर घर में किसी मेहमान के आते ही सबसे पहले नजर सेंटर टेबल पर जाती है । इसे सुंदर बनाने के लिए इस पर सुंदर टेबल कवर बिछा कर उसके आसपास सुंदर प्लांट रख सकती हैं ।

• चाहें , तो सेंटर टेबल के पास सुंदर पौधे का गमला रख सकती हैं । गमले से थोड़ा हट कर वैक्स या तेल के दीए रखें । इस पौधे पर लाइट की लड़ियां लगाएं । टेबल के ऊपर किसी सिल्वर या कांच के बोल में फूल रखें । साथ में भगवान । गणेश की मूर्ति रखें और रंगबिरंगी मैट से सजाएं ।

• बड़े पीतल के थाल के बीच में एक बोल में फूल सजा कर टेबल पर रखें । इस थाल में गणेश जी की पीतल की मूर्ति , पीतल का दीपदान , घंटी । आदि रखें । इस थाल के चारों तरफ साटिन के । रिबन , फलों की लड़ियों आदि से डेकोरेशन करें ।

चाहें , तो किसी मेटल ट्रे में एक लाइन में 2 – 3 कप रख कर उसमें फूल सजा दें । ट्रे के आसपास वैक्स के दिए सेट करें । साथ में लक्ष्मी – गणेश जी की प्रतिमा रखें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *