मासिक खर्च अधिक होने के बाद भी पैसो की बचत की शुरुआत कैसे करे – Khoobsurat World

मासिक खर्च अधिक होने के बाद भी पैसो की बचत की शुरुआत कैसे करे

budget kaise banaya jata hai

Budget Planning

आज के समय में रोज़ मर्रा की ज़िन्दगी में इतने सारे खर्च होते है की बचत के बारे में सोचना भी व्यर्थ है| आप ही सोचिये home loan, LIC loan, car insurance या कोई फंड। बच्चों की फीस, ट्यूशन, राशन, बच्चों का जेबखर्च, पेट्रोल, medical insurance, बिजली-पानी का बिल और भी न जाने कितने ऐसे ही छोटे – बड़े खर्चे अमूमन घरेलू budget में शामिल होते हैं। इन खर्चो की लिस्ट तो बढ़ती रहती है, लेकिन आमदनी वहीं की वहीं रहती है । ऐसे में सीमित तनख्वाह में सभी खर्च पूरे करना और साथ ही बचत भी करना किसी चुनौती से कम नहीं है (budget 2019)

अगर आप को लगता है की इतने सारे खर्चो के बीच बचत करना मुश्किल है तो आप गलत सोच रही है, आप यह सब कर सकती हैं| बस आवश्यकता है सही प्लानिंग की|| फाइनेंशियल प्लानर के अनुसार , घरेलू खर्चे की लिस्ट तैयार करना सबसे जरूरी है।

महीना शुरू होते ही घर के खर्चे की एक लिस्ट तैयार करें। इसमें हर संभावित खर्चे को शामिल करें। छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी… बिजली , पानी , इंटरनेट आदि सबके बिल लिस्ट में हों ताकि कोई खर्च आपका बजट न बिगाड़े ।

इसमें त्योहारों , एनिवर्सरी , बर्थडे जैसे खर्चा को भी शामिल करें । अब सभी खर्चो को जोड़ें और फिर आय के साधनों पर नजर डालें। इससे आपको यह अंदाजा हो जाएगा कि अपका मासिक बजट कितना हो सकता है । इस बजट में 1000 रुपये अतिरिक्त जोड़ लें। यह एक्स्ट्रा पैसा वीकएंड आदि पर फिल्म या अन्य खर्चा को मैनेज करने में आपकी मदद करेगा ।

बजट में कार मेंटेनेंस , ऑटो इंश्योरेंस जैसे खर्चो को भी याद रखें ।

घर का बजट कैसे बनाये/Kam Paise me Ghar Kaise Chalaye:

kam paise me ghar kaise chalaye

आप मासिक बजट को दो भागों में बांट सकती हैं ।एक, आवश्यक या अनिवार्य खर्चे जैसे बच्चों की फीस , होम लोन की EMI आदि और दूसरा है , अन्य खर्चे जिनमें आप वीकएंड पर आउटिंग प्लान आदि को रख सकती हैं ।

BUDGET तैयार करते वक्त हमेशा यह ध्यान रखिए कि कौन – से खर्चे के बिना आपका काम चल सकता है । ऐसी चीजों को बजट में शामिल न करें , जिन्हें कुछ वक्त के लिए आप आसानी से टाल सकती हैं ।

दोनों लिस्टों को ध्यान से देखिए और अब अनावश्यक खर्चे को बजट से हटा दीजिए । जो खर्च हो चुका है , उसके आगे निशान लगा दीजिए ।

अब इन खर्चे के कुल जोड़ को मासिक आय में से पहले से निकाल दें । अभी भी यदि आपके पास पैसा बचता है,, तो उस पैसे को सैलरी हाथ में आते ही पहले बैंक में जमा करा दीजिए । यदि बैंक में सैलरी का पैसा आता है । तो बजट के जितना ही निकालिए और बाकी पैसे को वहीं रहने दीजिए ।

इन्हें आजमाएं:

यदि दो या तीन महीने के बाद कोई बड़ा त्योहार आने वाला है , तो उसकी तैयारी पहले से ही करना शुरू कर दें । उदाहरण के लिए अगर दिवाली में आपका खर्च 5,000 रुपये के आस पास होता है , तो उसके लिए जुलाई या अगस्त के बजट से ही 1,000 रुपये बचाना शुरू कर सकती हैं ।

आप घरेलू सामान की शॉपिंग के लिए थोक मार्केट में जाकर , वहां से एक साथ ज्यादा सामान , सस्ती कीमतों पर ला सकती हैं । इससे आपके बजट में कई अनावश्यक खर्चे कम हो जाएंगे ।

बच्चों की अनावश्यक मांगों को पूरा न करें। आवश्यकता के अनुसार उन्हें चीजें खरीद कर दें । पॉकेट मनी भी तय मात्रा में ही दें ।

हर वीकएंड पर फिल्म देखने या एक्स्ट्रा शॉपिंग की अपनी आदत को बदले। एकाध वीकएंड पर घर पर रहकर ही और मनोरंजन के नए तरीके ढूंढे।

तो इस तरह से आप अपने बजट बना कर आसानी से बचत कर सकती है और अपने जीवन की गाडी को आसानी से चला सकती है ताकि आप को भविष्ये में यदि कोई ज़रुरत पड़े तो आप इस बचत से अपनी उस ज़रुरत को पूरा कर सकते है| तो इस तरह से कुछ तरीके है जिन्हे आप अपना सकती है|

आप किस तरह से बजड़ बना कर बचत करती है हमें कमेंट कर के ज़रूर बताये| की आप की सोच क्या है| इसके साथ ही हमारे इस ब्लॉग को लाइक और शेयर करना न भूलें| धन्यवाद ||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *