किस तरह से करें मॉइस्चराइजर का चयन – How to Find the Right Skin Moisturizer

किस तरह से करें मॉइस्चराइजर का चयन - How To Choose Moisturizer According To Skin

मॉइश्चराइजर लगाने का तरीका-

शरीर की नमी को समझने के लिए हाइड्रा म्यूटी न्यूट्रिशन समझना जरूरी है । अपनी स्किन के मुताबिक बढ़िया मॉइश्चराइजर (moisturizer)  मिलना जैसे अपने पैरों के मुताबिक एक जोड़ी ऐसे खूबसूरत फूटस मिलना है , जिसे आप सर्दी के मौसम में कम से कम 5 साल तक पहन सकती है । हम लकी है कि अपनी रेंज के मुताबिक हर skin types पर सूट करने वाले मॉइश्चराइजर बाजार में उपलब्ध है । ड्राई , ऑइली , कॉम्बिनेशन और भी कई तरह – तरह के मॉइश्चराइजर मिलते हैं । सुबह लगाने वाले अलग और रात को लगाने वाले मॉइश्चराइजर अलग होते हैं ।

मॉइस्चराइजर से जुड़ी एक अच्छी खबर यह है आपको मॉइस्चराइजर पर बहुत ज्यादा रुपए खर्च करने की जरूरत नहीं , क्योंकि डर्मेटोलॉजिस्ट भी बतातें है, कि बेसिक मॉइश्चराइजर आपको किसी भी ब्यूटी स्टोर में मिल जाएगा । लेकिन कीमती सोरम और मॉइश्चराइजर में दरअसल hyaluronic acid जैसे चीजें होती हैं , जो लंबे समय तक जवां रखती हैं । skin treatment के लिए इसका काफी प्रयोग किया गया है । कई तरह के skin care products में हैलोरोनिक एसिड का प्रयोग करते हैं । मॉइश्चराइजर लगाने के बाद त्वचा का रूखापन दूर होता है ।

ऑइली स्किन के लिए/Moisturizer For Oily Skin:

नॉन ग्रीसी लाइटवेट मॉइश्चराइजर लगाएं । एमिनो एसिड और सॉल्ट्स का मिश्रण , जो त्वचा के भीतर आसानी से जन्म हो जाए , लगाएं । कोशिकाओं में अपना भी नेचुरल मॉइश्चराइजर होता है । कोशिकाओं में जब पानी की कमी होती है , तो पानी पी कर और मॉइश्चराइजर लगा कर त्वचा की अंदरूनी परत को नमी प्रदान किया जा सकता है । ऑइली और एक्ने प्रोन स्किन जस्लीनिकली टेस्टेड के लिए कैटाफिल मॉइश्चराइजर्स क्लीनिकली टेस्टेड होते हैं , जो ऑइली स्किन के लिए परफेक्ट माने जाते हैं । ये स्किन केअर प्रोडक्ट त्वचा के पोर्स को ब्लॉक नहीं करते । ये आपको सनबर्न से सुरक्षित रखते हैं , जिससे युवी रेज की वजह से झुर्रियों की समस्या नहीं होती ।

OilySkinMoisturizers

सेंसेटिव स्किन के लिए/Moisturizer For Sensitive Skin:

सेंसेटिव स्किन के लिए एक अच्छा मॉइश्चराइजर लगाएं , जिससे त्वचा की लालिमा दूर हो । ऐसे मॉइश्चराइजर , जो केमिकल और प्रिजर्वेटिव फ्री हों , सेंसेटिव स्किन के लिए सही है ।

एक्स्ट्रा ड्राई स्किन के लिए/Moisturizer For Dry Skin:

इयूसिरीन को बहुत ड्राई स्किन जैसे एग्जिमा , नॉन इन्फ्लामेटरी डाईनेस की समस्या होने पर और पपड़ीदार त्वचा के लिए इस्तेमाल किया जाता है । इसीलिए ऐसे मॉइश्चराइजर का प्रयोग करें , जिसमें इयूसिरीन जैसे तत्व शामिल हों ।

एक्ने के लिए मॉइश्चराइजर/ Moisturizer For Acne Skin:

रेटिनॉल युक्त मॉइश्चराइजर एक्ने का उपचार करने के लिए का प्रभावकारी है । लेकिन यही लोशन फेस और बॉडी पर इस्तेमाल ना करें । यह बॉडी स्किन को और डाई कर सकता है ।

मॉइश्चराजिंग कैसे करें/How To Use Moisturizer-

बार – बार चेहरा धोने से बचें । इससे चेहरा रूखा हो जाएगा । रूखी त्वचा के लिए मॉइश्चराइजिंग करना बहुत जरूरी है । चेहरा धोने के साथ ही मइिश्चराइजर लगाएं । सनस्क्रीन नियमित लगाएं । फेस मास्क से भी चेहरे को पर्याप्त नमी पहुंचाएं ।

चेहरे के लिए मॉइश्चराइजर:

सनस्क्रीन से त्वचा को सही मात्रा में नमी मिल जाती है , क्योंकि उसमें मौजूद तत्व मॉइश्चराइजर का अच्छा विकल्प होते । हैं । अगर आप दोनों चीजें लगाना चाहती है , तो सबसे पहले त्वचा पर मॉइश्चराइजर का कोट लगाएं । फिर उसके ऊपर सनस्क्रीन का कोट लगाएं । इसे धूप में जाने से 20 मिनट पहले लगाएं । ओवर मॉइश्चराइजिंग डिहाइड्रेटेड स्किन ज्यादा से ज्यादा मॉइश्चराइजर जन्व करता है । ऑइल स्किन थोड़ा कम मॉइश्चराइजर जन्व करता है । जरूरत से ज्यादा मॉइश्चराइजर त्वचा को ब्लॉक करता है और मुंहासे होने की समस्या होती है । इससे तैलीय ग्रंथियां सक्रिय हो उठती हैं । मटर के दाने के बराबर मॉइश्चराइजर । अपनी हथेली पर ले कर मलें और थोड़ागुनगुना होने पर चेहरे पर लगाएं ।

एक्टिव हाइड्रेटिंग लोशन :

इस तरह के लोशन में त्वचा के भीतर तक नमी पहुंचाने के गुण होते हैं । इसे लगाने के बाद चेहरे पर शाम तक चिपचिपेपन का अहसास नहीं होता । यह स्किन के ओपन पोर्स को कम करता है ।

कब करें मॉइश्चराइजिंग- नहाने के तुरंत बाद शरीर में नमी का स्तर बढ़ जाता है । ऐसे में अगर स्किन पर बॉडी लोशन या फेशियल मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें , तो त्वचा को पर्याप्त मात्रा में नमी मिलेगी । लंबे समय तक बदन में रूखापन महसूस नहीं होगा । एग्जिमा जैसी बहुत रूखी त्वचा की समस्या में ऐसे मॉइश्चराइजर लगाने की जरूरत होती है , जो डर्मा टेस्टेड होते हैं ।

कितनी बार लगाएं/ How Many Times Moisturize Face:

Moisturizer for dry skin

सरदियों में ज्यादातर लोग मॉश्चराइजर तब लगाते हैं , जब स्किन ड्राई महसूस होती है । जबकि चेहरा धोने के बाद गीली त्वचा को थपथपा कर सुखा लें और फेशियल मॉइश्चराइजिंग लोशन लगाएं ।

अगर आप धूप में जाने की सोच रही हैं , तो जाने से पहले सनस्क्रीन युक्त बॉडी लोशन और फेशियल क्रीम लगाना ना भूलें । कौन सा लोशन अच्छा है । शिया बटर त्वचा को सही मात्रा में नमी पहुंचाने का काम करता है । इसके अलावा रूखी त्वचा को मुलायम करने के लिए लैक्टासिड , यूरिया , हैलोरॉनिक एसिड , ग्लिसरीन , लेनोनिल , मिनरल ऑइल और पेट्रोलियम जैली जैसी चीजें कारगर हैं ।

हाथों के लिए नॉन ग्रीसी हैंड क्रीम सही है । हर बार हाथ धोने के बाद इसे लगाएं । इसे हाथ फरने की समस्या नहीं होगी । इतना ही नहीं . आप रात को सोने से पहले फुट क्रीम भी लगाएं । जब तक पैर फुट क्रीम सोख ना लें , तब तक पैरों को जमीन पर ना रखें ।

एड़ियों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए हफ्ते में 2 बार डेड स्किन रिमूव करने के लिए फुट स्क्रब लगाएं । नेचुरल बेस मॉइश्चराइजर : ऑर्गनिक शहद एंटी बैक्टीरियल होता है , जो एक्ने जैसी समस्या में भी रामबाण का काम करता है । यह रोमछिद्र को ब्लॉक नहीं करता और बढ़िया क्लींजर का काम भी करता है ।

बटर मिल्क , ऑलिव ऑइल , नारियल का तेल , शिया बटर , खीरा व एलोवेश अच्छे मॉइश्चराइजर हैं । ‘ ऑल पर्पस मॉइश्चराइजिंग बाम ऐसे मॉइश्चराइजर जो कई समस्याओं में रामवाण का काम करते हैं , उन्हें मल्टी ।

टास्किंग या ऑल पर्पस मॉइश्चराइजिंग वाम के नाम से जाना जाता है । इस अल्ट्रा ।मॉश्चराइजिंग की वजह से जरूरत से ज्यादा रूखापन दूर होता है ।

अगर कोई दाग है वह भी इसे रेगुलर लगाने पर दूर होता है । आजकल ऑगनिक मॉश्चराइजर बाम भी उपलब्ध हैं , जो सिलिकॉन और कलर मिलाए बिना बनाए जाते हैं । इनमें मिनरल ऑइल , पैराफिन । और आर्टिफिशियल परफ्यूम नहीं होते । बी वैक्स , ऑगनिक ऑइल होते हैं । ये 1001 प्रतिशत वेजिटेरियन , डर्मा टेस्टेड होते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *